Cyber Crime kya hai ? Cyber Security Officer kaise bane

आजकल साइबर सुरक्षा अधिकारी ( Cyber Security Officer) नई पीढ़ी के लिए एक लोकप्रिय और मांग वाला विकल्प बन गया है। लेकिन अरे, और साइबर सुरक्षा अधिकारी कैसे बनें (how to become cyber security officer)

साइबर क्राइम एक आम समस्या बनती जा रही है। खरीदारी, बैंकिंग और सामाजिककरण जैसी विभिन्न गतिविधियों के लिए इंटरनेट का उपयोग करने वाले अधिक से अधिक लोगों के साथ, साइबर अपराधी ऑनलाइन उपयोगकर्ताओं का शोषण करने के नए तरीके ढूंढ रहे हैं। इसलिए हर किसी के लिए साइबर अपराध से खुद को बचाने के लिए कदम उठाना महत्वपूर्ण है।

 How to select best educational institution for Higher education

ABOUT CYBER SECURITY

साइबर अपराध कंप्यूटर और इंटरनेट का उपयोग करके की जाने वाली एक गतिविधि है। हम कह सकते हैं कि यह एक गैरकानूनी कार्य है जिसमें कंप्यूटर या तो एक उपकरण या लक्ष्य या दोनों है।

या

साइबर अपराध को एक ऐसे अपराध के रूप में परिभाषित किया गया है जिसमें कंप्यूटर स्पैमिंग हैकिंग, चाइल्ड पोर्नोग्राफ़ी आदि जैसे अपराधों का उद्देश्य है। आम तौर पर, साइबर अपराधी इंटरनेट के उपयोग के माध्यम से व्यक्तिगत डेटा तक पहुंचने के लिए प्रौद्योगिकी का उपयोग करते हैं।

 साइबर अपराध का इतिहास

 पहला दर्ज साइबर अपराध 1820 में हुआ था।

पहला स्पैम ईमेल 1976 में हुआ था जब इसे ARPANT के माध्यम से भेजा गया था।

पहला वायरस 1982 में Apple कंप्यूटर पर इंस्टॉल किया गया था जब एक हाई स्कूल के छात्र रिच स्क्रेंटा ने EIK क्लोनर विकसित किया था।

साइबर अपराध की श्रेणियाँ

यह साइबर अपराध को दो प्रकार से वर्गीकृत कर सकता है।

लक्ष्य के रूप में कंप्यूटर: – अन्य कंप्यूटरों पर हमला करने के लिए कंप्यूटर का उपयोग करना, जैसे हैकिंग, वायरस/वॉर्म हमले, डॉस हमला आदि।

एक हथियार के रूप में कंप्यूटर:- वास्तविक दुनिया के अपराध जैसे साइबर आतंकवाद, क्रेडिट कार्ड धोखाधड़ी और अश्लील साहित्य आदि को अंजाम देने के लिए कंप्यूटर का उपयोग करना।

साइबर अपराध के प्रकार

हैकिंग , बाल अश्लीलता ,सेवा आक्रमण, वायरस का प्रसार , साइबर आतंकवाद, सॉफ्टवेयर चोरी, पढ़ना

साइबर सुरक्षा

साइबर सुरक्षा में विभिन्न ऑनलाइन हमलों की रोकथाम, पता लगाने और प्रतिक्रिया के माध्यम से संवेदनशील व्यक्तिगत और व्यावसायिक जानकारी की सुरक्षा शामिल है। साइबर सुरक्षा वास्तव में हमलों को रोकती है, साइबर सुरक्षा

साइबर सुरक्षा के लाभ

साइबर सुरक्षा हमें गंभीर हमलों से बचाएगी।

यह हमें साइट, वेबसाइट ब्राउज़ करने में मदद करता है।

इंटरनेट सुरक्षा आपके कंप्यूटर पर आने वाले और बाहर जाने वाले सभी डेटा को संसाधित करती है।

यह हमें हैक और वायरस से बचाएगा।

Cyber Security Officer कैसे बनें

यदि आप Cyber Secuiriyt Officer चाहते हैं, तो निम्नलिखित कदमों की मार्गदर्शिका आपकी सहायक हो सकती है:

  1. Education and Training:
    • साइबर सुरक्षा में शिक्षा प्राप्त करें। कम्प्यूटर साइंस, इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी या साइबर सुरक्षा के क्षेत्र में डिग्री होना उचित है।
    • ऑनलाइन कोर्स और सर्टिफिकेशन भी उपयोगी हो सकते हैं। Certified Ethical Hacker (CEH), Certified Information Systems Security Professional (CISSP), और CompTIA Security+ जैसे सर्टिफिकेशन की ओर बढ़ें।
  2. Professional Experience:
    • साइबर सुरक्षा क्षेत्र में अनुभव प्राप्त करना महत्वपूर्ण है। इंटर्नशिप, पार्ट-टाइम जॉब्स, या एंट्री-लेवल पदों से शुरुआत करें।
    • वास्तविक स्थितियों में काम करके प्रैक्टिकल ज्ञान प्राप्त करना भी महत्वपूर्ण है।
  3. सेल्फ-स्टडी और लैब प्रैक्टिस:
    • नए हमलों और सुरक्षा उपायों के बारे में अध्ययन करें। नियमित रूप से अपडेट रहना साइबर सुरक्षा क्षेत्र में काफी महत्वपूर्ण है।
    • वर्चुअल लैब का इस्तेमाल करके प्रैक्टिकल कौशल को सुधारने का प्रयास करें।
  4. नेटवर्किंग:
    • साइबर सुरक्षा समुदाय में शामिल होना महत्वपूर्ण है। सेमिनार, कॉन्फरेंस, और ऑनलाइन फोरम में प्रतिभाग करें। इससे आप नए ट्रेंड्स और अवसरों के बारे में जान सकते हैं।
    • नेटवर्किंग आपको मेंटर्स और सहकर्मियों से मिलने में मदद करेगा।
  5. एथिकल हैकिंग कौशल:
    • एथिकल हैकिंग के कौशल विकसित करें। वलनरेबिलिटी एसेसमेंट और पेनेट्रेशन टेस्टिंग का अनुभव प्राप्त करें।
    • कभी-कभी आपको यह भी समझना चाहिए कि क्या कानूनी और नैतिक है और क्या नहीं।
  6. अप-टू-डेट रहें:
    • साइबर सुरक्षा क्षेत्र में होने वाले बदलावों को ट्रैक करते रहें। नए खतरों और जोखिमों के बारे में नियमित अपडेट रहें।
  7. सर्टिफिकेशन:
    • इंडस्ट्री में मान्यता प्राप्त सर्टिफिकेशन प्राप्त करना आपको विश्वसनीयता और ज्ञान का पता लगा सकता है।
  8. सॉफ्ट स्किल्स:
    • संवाद और समस्या समाधान कौशलों को सुधारने पर ध्यान दें। साइबर सुरक्षा विशेषज्ञों को चाहिए होता है कि वे जटिल तकनीकी अवधारणाओं को सामान्य लोगों को समझा सकें।
  9. कानूनी पहलुओं:
    • साइबर कानून और कानूनी पहलुओं को भी समझना महत्वपूर्ण है। आपको यह जानना चाहिए कि क्या कानूनी और नैतिक है और क्या नहीं।

ध्यान रखें, साइबर सुरक्षा एक गतिशील क्षेत्र है, इसलिए आपको हमेशा नए ज्ञान और कौशल प्राप्त करने के लिए तैयार रहना पड़ेगा। सफलता की शुभकामनाएँ!

Salary of Cyber Security Officer

भारत में, Cyber Security Officer की वेतन  वार्षिक 4 से 8 लाख रुपये के बीच हो सकता है, जबकि लगभग 2 से 5 वर्षों के अनुभव वाले मध्य स्तर के पेशेवरों को वार्षिक 8 से 15 लाख रुपये के बीच का वेतन प्रदान किया जा सकता है।

5 वर्ष से अधिक के अनुभव और विशेषज्ञता वाले अनुभवी या वरिष्ठ स्तर के Cyber Security Officer को 15 लाख रुपये से अधिक वेतन की उम्मीद हो सकती है, और कई मामलों में इससे भी अधिक। 

इसके अलावा, शिक्षाएं, सर्टिफिकेट (जैसे CISSP, CISM आदि), इंडस्ट्री (वित्त, स्वास्थ्य सेवा, आईटी आदि), और नौकरी के स्थान की भी महत्वपूर्ण भूमिका होती है।

How to Get Success Guarantee in Competitive Examination

 साइबर अपराध रोकथाम युक्तियाँ

इस लेख में, हम कुछ प्रभावी साइबर अपराध रोकथाम युक्तियों पर चर्चा करेंगे।

  1. अपने सॉफ़्टवेयर को अद्यतन रखें: साइबर अपराधी अक्सर सिस्टम तक पहुंच प्राप्त करने के लिए सॉफ़्टवेयर में कमजोरियों का फायदा उठाते हैं। इसलिए, यह सुनिश्चित करने के लिए कि यह सुरक्षित है, अपने सॉफ़्टवेयर को नवीनतम संस्करण में अपडेट रखना आवश्यक है।
  2. मजबूत पासवर्ड का उपयोग करें: आपके ऑनलाइन खातों की सुरक्षा के लिए मजबूत पासवर्ड आवश्यक हैं। एक मजबूत पासवर्ड अक्षरों, संख्याओं और प्रतीकों का संयोजन होना चाहिए। इसके अतिरिक्त, किसी भी व्यक्तिगत जानकारी का अनुमान लगाना या उससे संबंधित होना आसान नहीं होना चाहिए।
  3. फ़िशिंग घोटालों से सावधान रहें: फ़िशिंग घोटाले साइबर अपराधियों के लिए संवेदनशील जानकारी चुराने का एक सामान्य तरीका है। व्यक्तिगत जानकारी का अनुरोध करने वाले अनचाहे ईमेल, टेक्स्ट संदेश या फ़ोन कॉल से हमेशा सावधान रहें। कभी भी अज्ञात स्रोतों से आए लिंक पर क्लिक न करें या अटैचमेंट डाउनलोड न करें।
  4. एंटीवायरस सॉफ़्टवेयर का उपयोग करें: एंटीवायरस सॉफ़्टवेयर मैलवेयर का पता लगाने और आपके कंप्यूटर को संक्रमित करने से रोकने के लिए डिज़ाइन किया गया है। सुनिश्चित करें कि आपके पास एक प्रतिष्ठित एंटीवायरस प्रोग्राम स्थापित और नियमित रूप से अपडेट किया गया है।
  5. अपने घरेलू नेटवर्क को सुरक्षित करें: आपका घरेलू नेटवर्क साइबर अपराधियों के लिए एक संवेदनशील लक्ष्य हो सकता है। सुनिश्चित करें कि आपका वाई-फाई नेटवर्क पासवर्ड से सुरक्षित है और आप WPA2 एन्क्रिप्शन का उपयोग कर रहे हैं। इसके अतिरिक्त, अपने राउटर के दूरस्थ प्रबंधन को अक्षम करने पर विचार करें।
  6. पने डेटा का बैकअप लें: नियमित रूप से अपने डेटा का बैकअप लेने से यह सुनिश्चित होता है कि साइबर हमले की स्थिति में आप महत्वपूर्ण फ़ाइलें नहीं खोएंगे। अपने डेटा को सुरक्षित रखने के लिए बाहरी हार्ड ड्राइव या क्लाउड स्टोरेज का उपयोग करें।
  7. सार्वजनिक वाई-फाई से सावधान रहें: सार्वजनिक वाई-फाई नेटवर्क अक्सर असुरक्षित होते हैं और साइबर अपराध के लिए प्रजनन स्थल हो सकते हैं। ऑनलाइन बैंकिंग या शॉपिंग जैसे संवेदनशील लेनदेन के लिए सार्वजनिक वाई-फाई का उपयोग करने से बचें।

भारत का साइबर कानून

इंटरनेट का उपयोग करने वाले प्रत्येक व्यक्ति के लिए साइबर अपराध की रोकथाम सर्वोच्च प्राथमिकता होनी चाहिए। इन सरल युक्तियों का पालन करके, आप साइबर अपराध का शिकार होने के जोखिम को काफी कम कर सकते हैं। याद रखें कि हमेशा सतर्क रहें और किसी भी संदिग्ध गतिविधि की सूचना संबंधित अधिकारियों को दें।

साइबर अपराध ने नए युग के अपराध को भी जन्म दिया है जिसे सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम, 2000 द्वारा संबोधित किया गया है।

निष्कर्ष

साइबर अपराध को वास्तव में वह पहचान मिल रही है जिसका वह हकदार है। हालाँकि, यह इतनी आसानी से प्रतिबंधित नहीं होने वाला है। वास्तव में, इसकी अत्यधिक संभावना है कि साइबर अपराध और इसके हैकर्स कानून से आगे रहने के लिए विकास और उन्नयन जारी रखेंगे।

इसलिए, हमें सुरक्षित बनाने के लिए हमें साइबर सुरक्षा की आवश्यकता होनी चाहिए। साइबर सुरक्षा अधिकारी (Cyber Security Officer) हमें इस अपराध से बचाने में मदद करते हैं

Was this helpful?

0 / 0

Leave a Reply 0

Your email address will not be published. Required fields are marked *